स्वच्छता पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Cleanliness In Hindi Language

प्रस्तावना:

हमारे जीवन में साफ – सफाई का सबसे ज्यादा महत्व हैं | साफ – सफाई रखने से आसपास का वातावरण स्वच्छ और सुंदर रहता हैं |

हर एक व्यक्ति को साफ – सफाई स्वयं करनी चाहिए | अगर मनुष्य साफ – सफाई नहीं रखेगा तो उसे अन्य बिमारियों का सामना करना पड़ेगा | साफ – सफाई का सीधा संबंध व्यक्ति के स्वास्थ्य से होता हैं |

अगर स्वच्छ और सुंदर वातावरण रहेगा तो स्वस्थ व्यक्ति का निर्माण होता हैं | आज के समय में हर एक स्कूल और कॉलेज में स्वच्छता के बारे में बताया जाता हैं |

स्वच्छता का महत्व

स्वच्छता हमें मानसिक, शारीरिक और बौद्धिक तरीके से स्वस्थ रखने के लिए जरुरी होती हैं | हमारी भारतीय संस्कृति में ऐसा माना गया हैं की, जहाँ पर स्वच्छता होती हैं वहां पर लक्ष्मी का वास होता हैं | हमारे देश में सबसे ज्यादा गंदगी मंदिरों में पाई जाती हैं |

धार्मिक स्थलों पर अन्य कार्यक्रमों का आयोजनों पर लाखो भक्तजन पहुँचते हैं | लेकिन वो लोग स्वच्छता के महत्व के बारे समझते हुए भी अनजान होकर वहां पर बहुत सारी गंदगी फैलाते हैं | हमारे तन और मन को प्रसन्न रखने के लिए वाछ्ता बहुत जरुरी होती हैं |

स्वच्छता की जरुरत

स्वच्छता रखना यह मनुष्य का अभिन्न गुण हैं | मनुष्य को अपने घर के साथ – साथ आसपास के परिसर को भी साफ रखना चाहिए | अगर मनुष्य साफ – सफाई नहीं रखेगा तो सांप, मक्खी, मच्छर और कीड़े – मकोड़े घर में प्रवेश करेंगे |

कुछ लोगों का कहना होता हैं की, स्वच्छता रखना यह सरकारी एजंसियों का काम हैं | इसलिए वो लोग खुद साफ – सफाई न करके सारी जिम्मेदारी सरकार के ऊपर छोड़ देते हैं |

उसकी वजह से चारों तरफ गंदगी फ़ैल जाती हैं और अन्य प्रकार की जिम्मेदारी पैदा हो जाती हैं | कई लोग खुले जगह पर शौच करने के लिए जाते हैं | लोगों की बुरी आदतों के कारण जानलेवा बीमारी उत्पन्न हो जाती हैं |

स्वच्छता अभियान

स्वच्छता रखना यह हर एक व्यक्ति की प्राथमिक जिम्मेदारी हैं | मनुष्य साफ – सफाई यह केवल अपने तक ही नहीं रखनी चाहिए बल्कि देश और राष्ट्र के लिए भी बहुत जरुरी हैं |

हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी का सपना था की, सभी लोगों को एकसाथ करके भारत देश को स्वच्छ रखे | इसलिए भारत देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी ने महात्मा गाँधी जयंती २ अक्टूबर, २०१४ को स्वच्छता अभियान की शुरुवात की हैं |

नरेन्द्र मोदीजी ने देश के इस मुहीम के साथ जोड़ने के लिए जन आंदोलन करके इसकी शुरुवात की |

निष्कर्ष:

देश को स्वच्छ रखना यह सिर्फ सरकार का कर्तव्य नहीं हैं बल्कि उसके साथ – साथ देश के हर एक नागरिक का कर्तव्य हैं |

देश और समाज के सभी लोगों को स्वच्छता के प्रति अपना योगदान देना चाहिए | हमारे देश को एक स्वच्छ और स्वस्थ राष्ट्र बनाने के लिए सभी लोगों को अपना सहयोग देना चाहिए |

Updated: June 17, 2019 — 12:02 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *