क्रिसमस पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Christmas In Hindi

प्रस्तावना:

हमारा भारत देश त्योहारों का देश हैं | इस देश में अन्य प्रकार के त्यौहार मनाये जाते हैं | हमारे भारत देश में हिन्दू, मुस्लिम, सीख, ईसाई, जैन, पारसी इन अनेक धर्मों के लोग रहते हैं |

हर एक धर्म का अपना त्यौहार होता हैं | उन सभी त्योहारों में से क्रिसमस यह ईसाई धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार हैं | जिस तरह से हिन्दू धर्म के अन्य त्योहारों का महत्व होता हैं |

उसी तरह से ईसाई धर्म के लिए क्रिसमस का विशेष महत्व होता हैं | ईसाई धर्म के लोग इस त्यौहार को बड़े उत्साह और धूमधाम से मनाते हैं |

क्रिसमस त्यौहार कब मनाया जाता हैं –

क्रिसमस यह त्यौहार हर साल हमारे भारत देश में २५ दिसंबर को मनाया जाता हैं | यह त्यौहार मुख्य रूप से ‘प्रभु ईसा मसीह’ के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता हैं |

इस दिन ‘ईसा मसीह’ नामक के एक महान संत का जन्म हुआ था | ‘प्रभु ईसा मसीह’ इन्हें ईसाई धर्म का जन्मदाता माना जाता हैं | उन्होंने मनुष्य जाती को प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया हैं |

क्रिसमस की तैयारी

इस त्यौहार की तैयारी कुछ दिन पहले से ही होने लगती हैं | क्रिसमस के कुछ दिन पहले घरों की साफ – सफाई की जाती हैं | इस त्यौहार को धार्मिक और पारंपरिक रूप से मनाया जाता हैं |

क्रिसमस के दिन सभी लोग एक – दूसरे को बधाई देते हैं | इस दिन के अवसर पर उपहार बाँटना, क्रिसमस कार्ड देना, भोज देना, ईसाई भजन गाना और गीत – गाने गाना यह रिवाज हैं |

क्रिसमस के दिन बाजारों की रौनक बढ़ जाती है | घर और बाजार रंगीन रोशनी से जगमगाते हैं | क्रिसमस के दिन गिरिजाघरों में प्रार्थना की जाती हैं |

क्रिसमस केक का महत्व

क्रिसमस के दिन केक का बहुत महत्व होता हैं | ईसाई लोग एक – दुसरे को उपहार में केक देते हैं और अपने रिश्तेदारों, दोस्तों को भोज के लिए आमंत्रित करते हैं |

इस त्यौहार के अवसर पर ईसाई लोग अपने घर पर तरह – तरह के केक बनाते हैं | केक के बिना क्रिसमस त्यौहार अधुरा होता हैं | इस दिन केक काटकर खिलाने का रिवाज बहुत पुराने समय से हैं |

क्रिसमस ट्री

क्रिसमस का त्यौहार क्रिसमस ट्री के बिना कभी पूरा नहीं हो सकता हैं | क्रिसमस ट्री सजाने की परंपरा बहुत लम्बे समय से चलती आ रही हैं | क्रिसमस ट्री को प्रभु ईसा मसीह (यीशु) का प्रतीक चिन्ह माना जाता हैं |

क्रिसमस ट्री के रूप में देवदार और स्प्रूस के पेड़ों का उपयोग किया जाता हैं | इस क्रिसमस ट्री को सभी लोग सितारों, गुब्बारों, झालरों और तोहफों से सजाते हैं | क्रिसमस ट्री हमारे अंदर सकारात्मक उर्जा प्रदान करता हैं और नकारात्मक विचारों को दूर करता हैं |

क्रिसमस त्यौहार का महत्व

प्रभु ईसा मसीह के जन्म दिवस का यह दिन ईसाई धर्म के लोग बहुत महत्व पूर्ण मानते हैं | यह एक ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने लोगों को जीने का नया रास्ता दिखाया और सभी दुखों और तकलीफों से बचाया |

ऐसा माना जाता है की, जब भगवान यीशु का जो हुआ था तब समाज में अंधविश्वास, लालच, नफरत, हिंसा कृतिया रूढ़ थी | भगवान ने इन्हें धरती पर लोगों को प्रकाश और सच्चाई का मार्ग दिखाने के लिए भेजा था |

निष्कर्ष:

क्रिसमस का यह त्यौहार सभी लोगों में प्यार और भाईचारे को बढ़ावा देता हैं और सभी लोगों को मिल जुलकर रहने का संदेश देता हैं | भगवान यीशु कहते थे की, दीन – दुखियों की सेवा करना संसार का सबसे बड़ा धर्म होता हैं |

Updated: May 25, 2019 — 10:13 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *