चारमिनार पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Charminar In Hindi

प्रस्तावना:

चारमीनार यह एक ऐतिहासिक इमारत है | यह हमारे भारत देश का मुख्य पर्यटन स्थल हैं | यह एक वास्तुकला का शानदार नमूना हैं, जो हैदराबाद में स्थित हैं | हैदराबाद यह हमारे भारत देश के २९ राज्यों में से आंध्रप्रदेश की राजधानी हैं |

चारमिनार का अर्थ –

चारमीनार का अर्थ होता है – चार मीनार या बुर्ज | यह एक ऐसी ईमारत होती हैं, जिसमे चार मीनारे होती हैं |

चारमिनार की निर्मिती

सन १५९१ में मुहम्मद कुली कुतब शाह ने चारमिनार की निर्मिती की थी | उन्होंने अपनी राजधानी गोलकुण्डा से हैदराबाद तक इसका स्थानांतर किया हैं | ऐसा माना जाता हैं की, क़ुतुब शाह ने इस चारमिनार को बनाने के लिए भगवान से वादा किया था |

उसने भगवान से यह प्रार्थना की थी यदि इस शहर से प्लेग की साथ खत्म हो जाएगी तो चारमिनार की निर्मिती की जाएगी | यह ईमारत मुसी नदी के किनारे पर स्थित हैं |

चारमिनार की रचना

चारमिनार यह ईमारत चार मंजिला हैं | यह बहुत ही सुंदर और प्रभावशाली ईमारत हैं | इसकी रचना वर्गाकार हैं | इसके चारों दिशां में दरवाजा हैं | चारमिनार २० मी लम्बी और २० मी चौड़ी हैं | इस चारमिनार के अंदर १४९ घुमावदार सीढियां हैं |

इसके द्वारा कोई भी व्यक्ति दर्शक मीनार तक जा सकता हैं | इस चारमिनार के अंदर दो गैलरी हैं | उसमे से एक गैलरी में कम से कम ४५ लोग नमाज पढ़ सकते हैं | यहाँ शुक्रवार के नमाज पढ़ा जाता हैं | चारमिनार संगमरवर के पत्थर से बनी हैं |

सुरंग का निर्माण

इस ईमारत को गोलकुण्डा से जोड़ने के लिए एक भूमिगत सुरंग का निर्माण किया गया हैं | इस सुरंग का निर्माण इसलिए किया गया हैं की, कभी किले में दुश्मनों के द्वारा घेराबंदी होने पर क़ुतुब शाही शासक वहां से छिप कर भाग सके | आज भी यह सुरंग अस्तित्व में हैं |

मक्का मस्जिद

इस चारमिनार में सबसे मक्का मस्जिद यह सबसे बड़ी मस्जिद हैं | क़ुतुब शाही के राजवंश मोहम्मद कुली क़ुतुब शाह ने इसे मिटटी से बने ईँट से बनवाई हैं | हैदराबाद की यह सबसे पुरानी मस्जिद कही जाती हैं |

बाजारों की सुंदरता

चारमिनार के आसपास अलग – अलग मार्किट भी हैं | इसके पास में स्थित लाड बाजार गहने और सुंदर चूड़ियों के लिए जाना जाता हैं | पथेर गट्टी बाजार यह मोतियों के लिए सबसे प्रसिद्ध हैं | चारमिनार के आसपास बहुत सारी दुकाने लगती हैं | यहाँ पर हैदराबादी कुल्चे और नहरी, बिरयानी सबसे प्रसिद्ध हैं |

निष्कर्ष:

चारमिनार यह इमारत हैदराबाद के इतिहास का एक अभिन्न हिस्सा हैं | चारमीनार अपनी विशालता और सुंदरता की वजह से सभी दर्शकों का आकर्षण केंद्र बना हुआ हैं | यह एक अनोखा और दर्शनीय पर्यटन स्थल हैं |

Updated: June 15, 2019 — 7:53 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *