बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध – पढे यहाँ Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हमारे देश में दो प्रजाति के व्यक्ति रहते है – एक लड़का और लड़की | कही लोग लड़की और लड़का इसमें फर्क करते थे | लेकिन बहुत लोग इन दोनों को एक सामान मानते है | भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ यह सरकारी योजना २०१५ को शुरी की |

भारतीय समाज में कुछ सकारात्मक बदलाव लाने के लिए इस सरकारी योजना का आरम्भ कर दिया | देश में लडकियों के बहुत सारे प्रतिबंध डाले जाते थे |

यह योजना लडकियों के सुरक्षा के लिए शुरू की है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ यह योजना भारतीय समाज में लडकियों और महिलाओं को समाज में इज्जत और महत्ता मिलने के लिए शुरू की गयी है|

स्त्रीभूण हत्या

भारत देश को १५ अगस्त १९४७ को स्वतंत्रता प्राप्त हो गयी है | भारत देश स्वतंत्र होने से पहिले देश में हुंडा बली, स्त्रीभूण हत्या और लड़का / लड़की में भेदभाव यह सब प्रथा दिखाई देती थी | स्त्रियों को समाज में एक महत्व घटक माना जाता था |

पुरातन काल में ज्यादा से ज्यादा स्त्रीभूण हत्या की जाती थी | लडकियां पहिले ज़माने में परिवार के ऊपर बोज होती थी | कुछ लोग लड़किया पैदा होने से पहिले उनको माँ गर्भ में मर दिया जाता था |

प्राचीन प्रथा

स्त्रीभूण हत्या की वजह से स्त्रियों की जनसंख्या कम होती जा रही है | स्त्रियों के ऊपर लैगिक अत्याचार भी किया जाता था | प्राचीन काल में जिस स्त्री का पति मर जाता था उस औरत को सती जाना पडता था |

पहिले सती जाने की प्रथा रूढ़ हो गयी थी | राजा राममोहन राय इन्होने सती जाने के प्रथा पर विरोध कर दिया | इस सबसे मुक्तता पाने के लिए बहुत महान व्यक्तियों ने यह सब प्रथा पर विरोध बंदी डाली |

इसलिए आज हमारे देश में सरकार ने बेटियों को बचाने और उनके अच्छे भविष्य के बारे बहुत सारे कदम उठाये है | बेटियों के अच्छे परवरिश के लिए सरकारी नियम भी लागु किये जा रहे है और पुराने नियमों पर बदलाव किया जा रहा है |

समान अधिकार

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ इस सरकारी योजना के अनुसार हर लड़की उसका समान हक्क और अधिकार मिलना चाहिए | हर लड़की को पढ़ाके उसके सपनो को पूरा अधिकार मिलना जरुरी है | लड़की को हर क्षेत्र में उसका बराबर का हिस्सा मिलना जरुरी है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ इस योजना से हमें यह सिखाना चाहिए की हमें सब लड़कियों को इज्जत और उनका हक्क देना चाहिए | पुरे देश में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को इस सरकारी योजना का स्वीकार किया गया है |

निष्कर्ष:

लडकियों के ऊपर होने वाले अत्याचारों  को रोकना जरुरी है | इसलिए समाज में हर लड़की को अपना सन्मान और इज्जत मिलना चाहिए |

Updated: February 22, 2019 — 5:12 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *