स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay In Hindi On Swachh Bharat

प्रस्तावना:

स्वच्छ भारत अभियान यह राष्ट्रीय स्तर का अभियान हैं | यह भारत सरकार के द्वारा चलाई गयी एक योजना हैं | इस योजना की शुरुवात सभी गावों और शहरों की सफाई करने के लिए आरंभ किया हैं |

स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालयों का निर्माण करना और स्वच्छता के कार्यक्रमों को बढ़ावा देना हैं |

स्वच्छ भारत अभियान यह हमारे देश को स्वच्छ करने हेतु शुरू किया हैं | हमारा देश साफ – सुथरा होने के साथ – साथ आर्थिक विकास करने में सहायता मिलेगी |

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुवात

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान की शुरुवात महात्मा गाँधी जयंती २ अक्टूबर २०१४ की थी | स्वच्छ भारत अभियान को ‘स्वच्छता अभियान’ और ‘भारत मिशन’ भी कहा जाता हैं |

स्वच्छता को लेकर भारत के छवि को बदलने के लिए नरेन्द्र मोदीजी ने इस योजना के साथ जोड़ने के लिए सभी लोगों को एकत्रित करके शुरुवात की हैं |

महात्मा गांधीजी का सपना

हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी का सपना था | वो देश के स्वतंत्रता से पहले स्वच्छ रहना और स्वच्छता को उन्होंने ईश्वर भक्ति के समान माना था |

महात्मा गांधीजी का सपना था की, देश के सभी नागरिकों को एकसाथ करके देश को साफ – सुथरा रखने के बारे सोचते थे |

महात्मा गांधी जिस आश्रम में रहते हैं वहा हर दिन वो खुद साफ – सफाई करते थे | गांधीजी के इस सपने को पूरा करने के लिए नरेन्द्र मोदीजी ने इस अभियान की शुरुवात की हैं |

स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य कारन 

इस अभियान का मुख्य कारन हैं की, देश का हर एक कोना साफ – सुथरा होना चहिए |

कई लोग बाहर खुले जगह पर सोच करने के लिए जाते हैं, जिसकी वजह से बच्चों की मौत हो जाती हैं | इसलिए लोगों को खुले जगह पर शौच करने के लिए प्रतिबंध लगाया जाएगा |

हमारे देश के हर एक शहर में और गाँव में शौचालय का निर्माण करवाया जाए |

गाँव और शहर की हर एक गल्ली और सड़क साफ की जाएगी |

इस देश के हर एक गल्ली में कम से कम एक कचरा पात्र आवश्यक रूप से लगाया जाए |

स्वच्छ भारत अभियान की आवश्यकता

हमारे देश में शौचालय न होने के कारण लोग खुले जगह पर शौच करने जाते थे | उसकी वजह से बहुत सारी गंदगी फ़ैल जाती थी और अन्य सारी बीमारियाँ पैदा हो जाती थी |

कई लोग जल के स्त्रोत में और अन्य जगह पर कूड़ा – कचरा फेकते थे | जिसकी वजह से परदुषण की समस्या निर्माण हो जाती थी | उसके कारण पर्यावरण का संतुलन बिगड़ जाता था | पृथ्वी भी प्रदूषित हो जाती थी |

पृथ्वी दूषित होने की वजह से हवा और जल भी प्रदूषित हो जाता था | इसका सबसे ज्यादा परिणाम मनुष्य के स्वास्थ्य पर होता था |

निष्कर्ष:

हम सभी लोगों को मिलकर देश को साफ – सुथरा रखना चाहिए | हमारे भारत देश को हरा – भरा बनाए रखने के लिए स्वच्छ भारत अभियान यह एक बहुत ही अच्छा कदम हैं |

Updated: June 17, 2019 — 10:58 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *