पर्यावरण पर निबंध कक्षा ६ के लिए – पढ़े यहाँ Environment Essay In Hindi For Class 6

प्रस्तावना:

इस धरती पर पर्यावरण यह मनुष्य का सबसे बड़ा आधार हैं | यह पर्यावरण केवल मनुष्य के लिए ही नहीं बल्कि हर एक पशु – पक्षी, वनस्पति और पेड़ – पौधों के लिए भी आवश्यक हैं | पर्यावरण का सबसे ज्यादा महत्व मनुष्य के जीवन में होता हैं |

मनुष्य और पर्यावरण यह दोनों एक – दुसरे पर निर्धारित होते हैं | पर्यावरण में थोडासा भी परिवर्तन हो जाता हैं तो उसका परिणाम मनुष्य के ऊपर हो जाता हैं | पर्यावरण यह प्राकृतिक संपदा हैं जो बढ़ने, पोषण और नष्ट करने के लिए मदद करती हैं |

पर्यावरण का अर्थ –

पर्यावरण यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हैं – परि + आवरण | जिसमे पारी का अर्थ होता हैं – हमारे चारों ओर, और आवरण का अर्थ होता हैं – चारों तरफ से घिरा हुआ |

इस पर्यावरण में नदी – नाले, समुंदा, पहाड़ – पर्वत, पशु – पक्षी, पेड़ –पौधे, भूमि, वायु इन सभी का समावेश होता हैं |

साधन – संपत्ति 

इस धरती पर सबसे ज्यादा पेड़ों का महत्व होता हैं | पेड़ों के द्वारा मनुष्य शुद्ध हवा प्राप्त होती हैं | उनको पेड़ों से शुद्ध ऑक्सीजन मिलता हैं और कार्बन डाय ऑक्साइड को अवशोषित करते हैं | पेड़ों से मनुष्य को फल, फुल और लकड़ी के रूप में ईंधन प्राप्त होता हैं |

इस पर्यावरण से मनुष्य को बहुत सारी साधन – संपत्ति प्राप्त होती हैं | उस साधन – संपत्ति का उपयोग मनुष्य अपने जीवन में करता हैं |

पेड़ों की कटाई

मनुष्य अपनी सुख – सुविधा पूरी करने के लिए पेड़ों की कटाई करता हैं | उसको इंधन के रूप में लकड़ी प्राप्त होती हैं | उस लकड़ी का उपयोग मनुष्य खाना बनाने के लिए करता हैं |

मनुष्य पदों की लकड़ी का इस्तेमाल खिड़कियां, दरवाजे और विभिन्न प्रकार की लकड़ी खिलौने बनाने के लिए करता हैं | अपने स्वार्थ के लिए मनुष्य जंगलों की ज्यादा कटाई करता हैं | इसके कारण पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुँचता हैं |

प्रदुषण की समस्या

इस धरती पर पेड़ों की कटाई होने के कारण प्रदूषण की समस्या निर्माण हो जाती हैं | जंगले नष्ट होने के कारण कार्बन डाय ऑक्साइड का स्तर बढ़ जाता हैं | उसकी वजह से ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्या भी निर्माण होती हैं |

इस पृथ्वी पर पेड़ न होने के कारण जल प्रदूषण, वायु प्रदुषण और भूमि प्रदुषण हो जाता हैं | कई लोग जल के स्त्रोत में कारखानों में से निकलने वाला दूषित जल नदी – नालों में छोड़ देते हैं |

उसकी वजह से जल दूषित हो जाता हैं | वाहनों और कारखानों में से निकलने वाले धुएं के कारण हवा दूषित हो जाती हैं | जिसकी वजह से मनुष्य को साँस लेना भी मुश्किल हो जाता हैं |

निष्कर्ष:

मनुष्य को अपना जीवन जीने के स्वच्छ वातावरण की आवश्यकता होती हैं | इसलिए हर किसी को पर्यावरण की रक्षा करनी चाहिए | पेड़ों की कटाई नहीं करनी चाहिए |

हम सभी लोगों को प्राकृतिक संसाधनों के महत्व को समझना चाहिए | मनुष्य को प्रकृति के साथ दुर्व्यवहार नहीं करना चाहिए बल्कि उसे सुरक्षित रखना चाहिए |

Updated: May 18, 2019 — 8:19 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *