भारत में शिक्षा प्रणाली पर निबंध – पढ़े यहाँ Education System in India Essay in Hindi

प्रस्तावना

भारत में शिक्षा प्रणाली का बहुत ही बड़ा महत्त्व है | वर्तमान समय में शिक्षा प्रणाली के स्तर को बढ़ाने के लिए प्रति व्यक्ति को सहमत होना जरुरी है | क्योंकि हर किसी के जीवन को सफल बनानें के लिए शिक्षा बहुत जरुरी है | इसलिए हमारे जीवन में शिक्षा का बहुत बड़ा महत्त्व है |

जीवन में ज्ञान ही सब कुछ होता है, और ज्ञान हमें शिक्षा से प्राप्त होता है | व्यक्ति, समाज, समुदाय और देश के उज्जवल भविष्य की प्रणाली का पालन किया जा रहा है | भारत में सभी बच्चों के लिए प्राथमिक शिक्षा अनिवार्य है | शिक्षा सार्वजानिक संस्थानों से प्रदान की जाती है | जिसमें नियंत्रण और वित्तपोषण यह तीन स्तरों से आता है |

भारत सरकार के नियम

भारत सरकार द्वारा चौदह वर्ष तक के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा प्रदान किया गया है | अंग्रेजों ने भारत का उपनिवेश बनाया और, गुरुकुल प्रणाली को मिटाना शुरू कर दिया क्योंकि अंग्रेजों  ने एक अलग शिक्षा प्रणाली का पालन करने वाले स्कूलों की स्थापना की |

हमारा भारत १५ अगस्त १९४७ को आजाद हुआ था | गाँधी जी शिक्षा के विषय में बोले थे की शिक्षा का अर्थ बच्चों में शारिरिक, मानसिक एवं नैतिक शक्तियों का विकास करना होगा | शिक्षा में सुधार लाने के लिए कई प्रकार की समितियां बनाई गई हैं |

उचित शिक्षा की जरुरत

विश्व में प्रत्येक लोगों के जीवन का संतुलन और पृथ्वी पर अपने अस्तित्व को बनाने के लिए शिक्षा का महत्त्वपूर्ण उपकरण है | यहाँ हर एक व्यक्ति के लिए उचित शिक्षा की जरुरत है | शिक्षा प्रत्येक व्यक्ति का पहला और सबसे महत्त्वपूर्ण अधिकार है |

भारत में शिक्षा का महत्व बहुत ज्यादा है | क्योंकि संस्कृति, सभ्यता और शिक्षा का उदय सबसे पहले भारत में हुआ था | प्राचीनकाल में पाठ्शाला नगरों के शोरगुल से बहुत दूर हुआ करता था | भारतीय शिक्षा प्रणाली विदेशों से अलग है |

शिक्षा प्रणाली

शिक्षा के बिना हम अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते हैं | तथा आसपास का विकास नही कर सकते हैं | भारतीय स्कूलों में अंकन प्रणाली प्राथमिक कक्षा से शुरू होती है, जिससे छोटे बच्चों पर बोझ पड़ता है | प्रतियोगिता दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है |

उचित शिक्षा हमारे भविष्य के लक्ष्य को दिखाता है | शिक्षा प्रणाली के स्तर को बढ़ाने के लिए सभी के सहयोग की जरुरत है | शिक्षा कौशल और ज्ञान प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण माध्यम है | शिक्षा के बिना जीवन लक्ष्यहीन और कठिन हो जाता है |

शिक्षा हमारे जीवन को सक्षम बनाता है | रचनात्मक सोंच के लिए भारतीय शिक्षा प्रणाली को बदलना होगा और स्कूल के गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए | जो छात्र क्र दिमाग को चुनौती देते हैं, और उनकी रचनात्मक सोंच क्षमता को बढ़ाते हैं |

निष्कर्ष:

भारतीय शिक्षा प्रणाली में एक विशाल पाठ्यक्रम शामिल है | पर्यावरण विज्ञान, सामाजिक विज्ञान , नैतिक विज्ञान, अंग्रेजी, हिंदी और कंप्यूटर विज्ञान सहित आदि विषयों पर ज्ञान प्रदान करती हैं | यह विषय बच्चों को प्राथमिक कक्षा से ही पाठ्यक्रम का हिस्सा बनते हैं | तथा कम उम्र में ही इन सभी विषयों का ज्ञान प्राप्त होता है |

Updated: September 21, 2019 — 10:50 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *