भूकंप पर निबंध कक्षा ३ के लिए – पढ़े यहाँ Earthquake Essay In Hindi For Class 3

प्रस्तावना:

भूकंप यह एक सभी प्राकृतिक आपदाओं में से एक प्रमुख आपदा हैं | इस आपदा की वजह से बहुत नुकसान होता हैं | भूकंप जैसे प्राकृतिक आपदाओं में मनुष्य हानी, माल की हानी और अन्य प्राणी इसके शिकार बन जाते हैं |

भूकंप का अर्थ

भूकंप यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ हैं – भू + कम्प | जिसका अर्थ होता हैं, पृथ्वी का कांपना या हिलना | धरती में अचानक से हलचल होने लगती हैं |

जब पृथ्वी के अंदर आंतरिक गर्म पदार्थों की हलचल उत्पन्न हो जाती हैं, तब भूकंप की स्थिति निर्माण होती हैं |

भूकंप के कारण

जपान को भूकंप का देश कहा जाता हैं | भूकंप ज्वालामुखी फटने के कारण होते हैं | भूकंप पहाड़ी क्षेत्रों में ज्यादा निर्माण होते हैं | भूकंप मुख्य रूप से दो कारणों की वजह से आता हैं – विवर्तनिक कारण और अविवर्तनिक कारण |

विवर्तनिक कारण –

विवर्तनिक कारण की वजह से पृथ्वी के दाब के कारण भूकंप आता हैं | पृथ्वी का दाब हर एक जगह पर सामान नहीं होता हैं | पृथ्वी का तापमान कभी बढ़ता हैं तो कभी कम हो जाता हैं |

इसकी वजह से भीतरी परतों पर दाब का पट्टा कम या ज्यादा हैं | कभी – कभी दाब इतना बढ़ जाता हैं की, पृथ्वी की चट्टानें हिलने, डोलने और टूटने लगती हैं |

भूकंप की वजह से नुकसान

भूकंप के कारण इमारते और मकाने गिरने लगती हैं | बहुत सरे लोग घर के अंदर ही दब जाते हैं | सभी पेड़ – पौधे, पशु – पक्षी पृथ्वी के अंदर समां जाते हैं | भूकंप की वजह से बहुत सारा नुकसान हो जाता हैं | भूकंप के कारण भूमि में दरारे पड़ने लगती हैं | लोग बेघर हो जाते हैं | भूकंप की वजह से पर्यावरण को भारी नुकसान पहुँचता हैं |

उपाय

भूकंप आने से किसी को डरना नहीं चाहिए बल्कि सावधानियां रखनी चाहिए | भूकंप यह अचानक से आने वाली प्राकृतिक आपदा हैं | लेकिन इससे बचाव करने के लिए भूकंपरोधी भवनों का निर्माण करना चाहिए |

सभी लोगों को इसका मिल – जुलकर सामना करना चाहिए | भूकंप आने का अंदाज नहीं लगाया जा सकता हैं | लेकिन कुछ तैयारी की जा सकती हैं | इसके लिए लोगों को लकड़ी के घरों में रहने की सलाह दी जाती हैं |

भूकंप आने पर लोगों को घर के बाहर आना चाहिए | ईमारती, बिजली के साधनों से दूर रहना चाहिए |

निष्कर्ष:

भूकंप यह एक प्राकृतिक आपदा होने के कारण इसे रोकना मनुष्य को संभव नहीं हैं | इससे बचने के लिए आधुनिक विज्ञान की पूरी सहायता लेनी चाहिए |

Updated: May 21, 2019 — 7:39 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *