पृथ्वी पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Earth Essay In Hindi

प्रस्तावना :

पृथ्वी यह एक बहुत बड़ा ग्रह है | पृथ्वी यह एक ऐसा ग्रह है जहा पर मानव अपना जीवन जी सकता है | इस ग्रह पर सब चीजे उपलब्ध है | पृथ्वी पर हर मनुष्य को पिने के लिए पानी भी मिलता है |

पृथ्वी इस ग्रह पर पूरी मनुष्य जाती, प्राणी, पशु – पक्षी और अन्य कीटकों का भी अस्तित्व है | पृथ्वी ने मनुष्य को जीवन जीने के लिए बहुत सारी चीजे उपलब्ध करके दी है |

लेकिन हर मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए हर एक मनुष्य सभी चीजों का दुरूपयोग कर रहा है | मनुष्य पुरे पर्यावरण का नाश कर रहा है |

पृथ्वी दिवस

हमारे देश में हर साल २२ अप्रैल १९७० को पृथ्वी दिवस मनाया जाता है | इस पृथ्वी दिवस की शुरुवात ‘अमरीकी सिनेटर गेलार्ड नेलसन’ ने की है | इन्होने सबसे पहिले अमेरीकी के होने वाले औद्योगिक विकास के कारण पर्यावरण पे होने वाले दुष्परिणामों पर अमरीकी का लक्ष्य केन्द्रित किया था |

इन्होने पुरे अमेरीकी समाज को एकसाथ करके जो जैवविविधता नष्ट रों रही थी और पर्यावरण को बचाने के लिए सभी ने संघर्ष किया था | सन १९७० से इस पृथ्वी दिवस की शुरुवात हुई थी | और आज भी दुनिया में बहुत सारे लोग पृथ्वी दिवस को मनाते है |

जंगलों का नाश

मनुष्य को पर्यावरण से बहुत चीजे मिलती है | उसको पर्यावरण से प्राकृतिक संसाधने भी मिलती है | लेकिन मनुष्य उसका दुरूपयोग करने लगा है | मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए वृक्षों का नाश कर रहा है | इसके कारण पर्यावरण दूषित हो रहा है |

मनुष्य जंगलों की कटाई कर रहा है इसलिए ग्लोबल वार्मिंग की समस्या निर्माण हो गयी है | जिसके कारण बहुत सारे रोगों की उत्पत्ति हो रही है | हम सभी को पर्यावरण को सुरक्षित रखना होगा |

प्रदुषण

इस धरती पर बहुत प्रकार के प्रदुषण हो रहे है | सभी को प्रदुषण होने से रोकना होगा | प्रदुषण के कारण अन्य प्रकार के पशु और पक्षियों की प्रजाति नष्ट हो रही है |

उसके साथ साथ बहुत सारे प्राणी की प्रजाति भी विलुप्त हो रही है | हमें प्रदुषण को रोकना होगा और पर्यावरण के संतुलन को बनाके रखना होगा |

पृथ्वी को बचाने के तरीके

पृथ्वी को बचाने के लिए सभी को प्रयास करना होगा | जंगलों की कटाई नही करनी चाहिए | हम सभी को पानी का उपयोग भी कम करना चाहिए |

पानी ज्यादा बर्बाद नही करना चाहिए | वनों को बचाने के लिए हम सभी को ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने चाहिये | हमें अपने वातावरण को और जलचक्र को संतुलित रखना होगा |

निष्कर्ष :

भारत सरकारने जल बचाओ, पर्यावरण बचाओ, पृथ्वी बचाओ इनके साथ साथ पृथ्वी पर अच्छा जीवन जीने के लिए बहुत प्रभावी कदम उठाया है |

इस पृथ्वी के बिना पुरे ब्रह्मांड में कोई भी अपना जीवन नही जी सकता है | इसलिए हमें इस धरती को संभाल कर रखना होगा | जब हम पृथ्वी को सुरक्षित रखेंगे तब हमारी पृथ्वी सुरक्षित रहेगी |

Updated: March 1, 2019 — 10:28 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *