पृथ्वी दिवस पर निबंध – पढ़े यहाँ Earth Day Essay In Hindi

प्रस्तावना:

पृथ्वी यह एक ऐसा ग्रह हैं, जिसपर मनुष्य को अपना जीवन जीना संभव हैं | मानव और प्रकृति का बहुत गहरा संबंध हैं |

इस प्रकृति से मनुष्य को बहुत सारी चीजे प्राप्त होती हैं | लेकिन मनुष्य अपने स्वार्थ और सुख – सुविधाओं को पूरा करने के लिए पर्यावरण का नाश कर रहा हैं |

जिसकी वजह से पर्यावरण का संरक्षण करने के लिए सभी लोगों में जागरूकता फ़ैलाने के लिए और पर्यावरण की सुरक्षा उपाय के लिए पुरे विश्व में हर साल २२ अप्रैल को पृथ्वी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं |

पृथ्वी दिवस की स्थापना

पुरे विश्व में २२ अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया जाता हैं | यह एक वार्षिक आयोजन हैं, जिसके द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए समर्थन प्रदर्शित करने के लिए आयोजित किया जाता हैं |

पृथ्वी दिवस की स्थापना सन १९७० में अमेरिकी ‘सीनेटर जेराल्ड नेल्सन’ के द्वारा पर्यावरण  शिक्षा के रूप में की गयी थी | इसे हर साल लगबग १९२ से ज्यादा देशों में भी मनाया जाता हैं |

पृथ्वी यह धरोहर (अमानत)

पृथ्वी यह हमारी धरनी माता और अमानत हैं | इसकी रक्षा करना हम सभी लोगों का कर्तव्य हैं | इस प्रकृति के द्वारा मनुष्य को कई चीजे उपहार के रूप में दी गयी हैं |

प्रकृति के द्वारा मनुष्य को हवा, जल, धरती, पहाड़, नदियाँ, सूर्य, चाँद, हरे – भरे वन और धरती के अनादर छिपी हुई खनिज संपत्ति यह सभी उपहार के रूप में हर मनुष्य के सहायता के लिए प्रदान की हैं |

पृथ्वी दिवस मनाने का उद्देश

हमारे देश में हर साल पृथ्वी दिवस मनाने का मुख्य उद्देश हैं की, पर्यावरण की सुरक्षा के लिए सभी लोगों के बीच में जागरूकता बढ़ाना हैं |

इस दिन सभी लोगों को अपनी वसुंधरा को कैसे बचा सकते हैं | इस दिन सभी लोग पृथ्वी की सुरक्षा के लिए अन्य कर्यक्रमों में शामिल हो जाते हैं | जैसे की नए पेड़ – पौधों को लगाना, वृक्षारोपण करना, सड़क के किनारे का कचरा उठाना और ऊर्जा संरक्षण करना इ |

इस दिन के अवसर पर जन जागरूकता करने के लिए विविध कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता हैं |

पर्यावरण का नाश

मनुष्य अपनी सुख – सुविधाओं और स्वार्थ को पूरा करने के लिए पेड़ों की कटाई करता हैं | जिसकी वजह से अन्य प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता हैं |

ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्या निर्माण होती हैं | अन्य प्रकार के प्रदुषण का पर्यावरण पर बहुत प्रभाव पड़ता हैं | जंगलों और वनों की कटाई होने के कारण पशु – पक्षियों की प्रजाति नष्ट होती जा रही हैं |

प्रकृति यह सभी पशु – पक्षियों का निवास स्थान होता हैं | लेकिन मनुष्य उनका घर उजाड़ देता हैं | इसकी वजह से पर्यावरण की रक्षा के पृथ्वी दिवस मनाया जाता हैं |

निष्कर्ष:

इसलिए हम सभी लोगों को पर्यावरण की रक्षा करनी चाहिए | पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं पहुँचाना चाहिए | उसके साथ – साथ हर एक व्यक्ति को ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए और इस पर्यावरण हो हरा – भरा बनाना चाहिए |

Updated: June 17, 2019 — 7:43 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *