दशहरा पर निबंध कक्षा ६ के लिए- पढ़े यहाँ Dussehra Essay In Hindi For Class 6

प्रस्तावना:

दशहरा यह त्यौहार सभी त्योहारों में से एक त्यौहार हैं | दशहरा को विजयादशमी के नाम से भी जाना जाता हैं | यह त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता हैं |

यह हिन्दू धर्म का एक मुख्य त्यौहार हैं | दशहरा त्यौहार पुरे विश्व में मनाया जाता हैं | दशहरा यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतिक के रूप में मनाया जाता हैं |

दशहरा त्यौहार कब मनाया जाता हैं –

दशहरा यह त्यौहार अश्विन शुकल पक्ष दशमी के दिन मनाया जाता हैं | दशहरा यह त्यौहार पुरे दस दिन तक मनाया जाता हैं |

भारत देश में सभी त्यौहार रीती – रिवाज और परंपरा के साथ मनाये जाते हैं | यह एक ऐसा देश हैं, जहाँ पर संस्कृति, परंपरा और मेले, उत्सव के लिए जाना जाता हैं | इस देश में रहने वाले सभी लोग त्योहारों को पुरे ख़ुशी के साथ मनाते हैं |

दशहरा का महत्व 

जीवन में दशहरा त्यौहार का बहुत महत्व हैं | इस दिन कई लोग अपने अपने अंदर की बुराइयों को खत्म करके नए जीवन की शुरुवात करते हैं | यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई के जीत की ख़ुशी में मनाया जाता हैं |

इस त्यौहार को सबसे पवित्र और शुभ माना जाता हैं | इस दिन शुरू किये गए कार्य में जरुर सफलता मिल जाती हैं |

दशहरा का त्यौहार क्यों मनाया जाता हैं 

भगवान श्रीराम की पत्नी देवी सीता को रावण ने अपहरण करके लंका ले गया था | भगवान श्रीराम यह देवी दुर्गा माता के सच्चे भक्त थे | उन्होंने नौ दिनों तक माँ दुर्गा देवी की पूजा की और दसवे दिन दुष्ट रावण का वध किया |

दशहरा के दिन माँ दुर्गा ने भी महिषासुर नामक राक्षस का वध किया था | इसलिए यह त्यौहार बुराई के अच्छाई के जीत के रूप में मनाते हैं | इसलिए यह त्योहार विजयादशमी के रूप में मनाया जाता हैं |

माँ देवी दुर्गा की पूजा

इस त्यौहार में नौ दिनों तक माँ दुर्गा देवी के अलग – अलग रूपों की पूजा की जाती हैं | और दसवा  दिन दशहरा ( विजयादशमी ) के रूप में मनाया जाता हैं | इस दिन रावण का पुतला बनाकर उसे जलाया भी जाता हैं |

दशहरा त्यौहार पर मेले 

इस दिन कई जगहों पर बड़े मेलों का आयोजन भी किया जाता हैं | लोग गावों और शहरों में मेला देखने जाते हैं |

दशहरा के दिन सभी लोग अपने परिवार, दोस्तों के साथ आते हैं और मेले का पूरा आनंद लेते हैं | मेले में हर एक तरह की वस्तुए, कपडे और खिलौने बेचे जाते हैं |

निष्कर्ष:

दशहरा इस त्यौहार से लोगों को यह सीख मिलती हैं की, अपने अंदर के बुराइयों को खत्म करना चाहिए | और हमेशा सच्चाई के मार्ग पर ही चलना चाहिए |

जीत हमेशा सच्चाई की होती हैं | इसलिए यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक हैं | दशहरा यह त्यौहार लोगों के मन में नई छह और नई ऊर्जा ले आता हैं |

Updated: March 30, 2019 — 11:39 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *