दिवाली पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Diwali Essay In Hindi

प्रस्तावना :

हिन्दुओं के अन्य त्यौहार में से दिवाली यह एक प्रमुख त्यौहार है | इस देश विभिन्न प्रकार के त्यौहार मनाये जाते है | इस भारत देश को त्योहारों का देश कहा जाता है | दिवाली यह त्यौहार दिपों का त्यौहार है | इस त्योहार का सभी लोग बहुत उत्सुकता से इंतजार करते है | यह सभी लोगो का सबसे पसंद का त्यौहार है |

दिवाली त्यौहार कब मनाया जाता है 

दिवाली यह त्यौहार कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाता है | इस अमावस्या के दिन अँधेरी रात होती है और दिवाली यह पर्व रोशनी फ़ैलाने का कार्य करता है | दिवाली के दिन सभी जगह पे दीपों की आरास की जाती है |

दिवाली क्यों मनाई जाती है 

यह दिवाली का पर्व इसलिए माना जाता है की, इस दिन भगवान श्रीराम १४ साल के वनवास के बाद अयोध्या वापस लौट के आये थे |

उनके स्वागत के लिए अयोध्या के सभी लोगो ने बहुत सारे दिप जलाकर उनका स्वागत किया था |

दिवाली त्यौहार की तैयारी

दिवाली यह त्यौहार सभी धर्म के लोग अलग अलग तरीके से मनाते है | यह त्यौहार आने से पहिले सभी लोग अपने अपने घर की साफ सफाई करते है |

घर में सजावट करते है | घर पर मिठाइया बनाई जाती है | सभी लोग यह त्यौहार बहुत ख़ुशी के साथ मनाते है |

दिवाली यह त्यौहार पांच दिन तक चलने वाला त्यौहार है | इस त्यौहार में अलग अलग पंच त्यौहार मनाये जाते है | दिवाली के पहिले दिन धनतेरस, छोटी दिवाली (नरक चतुर्थी), मुख्य दिवाली, गोवर्धन पूजा और सबसे पांचवा दिवस होता है भाईदूज |

धनतेरस

धनतेरस के दिन देवी की पूजा करके मनाया जाता है | इस दिन देवी की पूजा करके आरती और मंत्र गाते है | इस दिन कुछ बर्तन भी खरीदना पड़ता | इस दिन बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है |

छोटी दिवाली

छोटी दिवाली यह नरक चतुर्थी के रूप में मनाई जाती है | इस भगवान कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था | इसलिए यह त्यौहार नरक चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है |

मुख्य दिवाली

दिवाली का तीसरा दिन मुख्य दिवाली के रूप में मनाया जाता है | इस दिन को सभी लोग ख़ुशी और उत्साह से मनाते है | बच्चे लोग फटाके जलाके इस त्यौहार का आनंद लेते है |

सभी लोग रिश्तेदारों, पड़ोसी और दोस्तों को मिठाई का उपहार देते है | इस दिन लक्ष्मी देवी की पूजा भी की जाती है |

गोवर्धन पूजा

चौथा दिन गोवर्धन पूजा के रूप में मनाया जाता है | इस दिन गाय की पूजा की जाती है | इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी ऊँगली पर उठाया था |

भाईदूज

सबसे पांचवा दिन भाईदूज के रूप में मनाते है | इस दिन सभी बहने अपने भाई को भाईदूज का त्यौहार मनाने के लिए आमंत्रित करती है | भाई अपने बहन को इस दिन कुछ तौफा देता है |

निष्कर्ष:

दिवाली यह त्यौहार सभी धर्म के लोग ख़ुशी से मनाते है | इस त्यौहार से सभी लोगो को आशीर्वाद और ख़ुशी मिल जाती है | दिवाली यह त्यौहार बुराइया दूर करके अच्छाई को आत्मसात करने की प्रेरणा देता है |

Updated: February 27, 2019 — 11:56 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *