विमुद्रीकरण पर निबंध पढ़े यहाँ Demonetization In Hindi Essay

प्रस्तावना:

हमारा भारत देश यह एक विशाल देश हैं | इस देश में बढ़ते हुए भ्रष्टाचार को रोकने के लिए भारत सरकारने विमुद्रीकरण करने का निर्णय लिया | इसकी वजह से आम जनता को अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ा |

परन्तु भ्रष्टाचार की समस्या कम हो गयी | जिसके कारण हमारे भारत देश की अर्थव्यवस्था में बहुत सारा सुधार होने लगा |

विमुद्रीकरण का अर्थ

जब सरकार पुरानी मुद्रा को क़ानूनी तौर से बंद करके उस जगह पर नई मुद्रा को लाने की घोषणा करता हैं तब उसे ‘विम्रुद्रिकरण’ कहा जाता हैं |

विमुद्रीकरण की शुरुआत

हमारे भारत देश में ८ नवम्बर, २०१६ को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने शाम के ८ बजे विमुद्रीकरण की घोषणा की थी | इसके माध्यम से ५०० और १००० की मुद्रा को क़ानूनी तौर से बंद कर दिया गया |

विमुद्रीकरण करने के बाद देश के हर एक नागरिक को पुरानी मुद्रा जमा करने के लिए कुछ समय दिया गया |

विमुद्रीकरण की जरुरत

मोदी सरकारने भारतीय सत्ता में आकर देश के विकास के लिए बहुत सारे कार्य किये हैं | उन सभी कार्यों में से विमुद्रीकरण यह एक हैं |

देश में छुपा हुआ काला धन बाहर निकालने के लिए और भ्रष्टाचार और आतंकवाद की समस्या को खत्म करने के लिए विमुद्रीकरण किया गया हैं | हमारे देश की अर्थव्यवस्था को सुरक्षित रखने के लिए विमुद्रीकरण करना बहुत आवश्यक था |

विमुद्रीकरण का प्रभाव

विमुद्रीकरण की वजह से सभी लोगों को अन्य सारे मुसीबतों का सामना करना पड़ा | सभी लोगों को अपनी पुरानी मुद्रा को बदलने के लिए बैंक के बाहर लाइन लगानी पड़ती थी | उसकी वजह से उद्योग धंधों पर बहुत असर पड़ा |

इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पर्यटन स्थल पर हुआ | विमुद्रीकरण की वजह से बहुत सारे कामों में मंद गति निर्माण हो गयी | कई सारे लोग विमुद्रीकरण की वजह से शादियाँ भी उतनी धूमधाम से नहीं कर पाए |

विमुद्रीकरण के लाभ

विमुद्रीकरण से बहुत सारे लाभ हुए | जैसे की

कालाधन

जब सभी लोग बैंकों में पैसा जमा करने गाये तब हर एक पैसे की जानकारी सरकार के पास चली गयी |

जिन लोगों के पास आय से भी ज्यादा पैसा मिला उनसे आयकर विभाग वाले लोगों ने जाँच पड़ताल की | उसके साथ – साथ बहुत सारे लोगों के पास जो काला धन था वो पकड़ा गया |

आतंकवाद की समस्या

कालेधन की वजह से आतंकवादी और भ्रष्टाचारी लोगों को बढ़ावा मिलता हैं | उसके साथ अहिंसा को बढ़ावा मिलता था | देश में कालाधन कम होने के कारण आतंकवाद और भ्रष्टाचार में कमी आ गयी |

देश का विकास

विमुद्रीकरण की वजह से बहुत सारा काला धन सरकार के पास चला गया और उस पैसे का उपयोग सरकारने देश के विकास के लिए लगाया |

रोजगार

विमुद्रीकरण के कारण बैंक में बहुत सारा पैसा जमा हो गया जिसकी वजह से लोगों को नया उद्योग शुरू करने के लिए कर्ज के द्वारा दिया गया | जिससे रोजगार में वृद्धि हो गयी |

निष्कर्ष:

विमुद्रीकरण करने के लिए भारत सरकार के द्वारा उठाया गया यह कदम बहुत ही अच्छा था | इसकी वजह से देश के विकास में गति प्राप्त हो गयी |

इसलिए हम सभी लोगों को सरकार के इस फैसले का समर्थन करना चाहिए और उसे सफल बनाने के लिए प्रयास करना चाहिए |

Updated: June 15, 2019 — 9:54 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *