विमुद्रीकरण पर निबंध कक्षा ५ के लिए – पढ़े यहाँ Demonetization Essay In Hindi For Class 5

प्रस्तावना:

विमुद्रीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जो सरकार के द्वारा पुरानी नोटों को बंद करके नई मुद्रा को लागु किया जाता है | इस प्रक्रिया से ज्यादा तो बड़े नोटों को बदलाव किया जाता है |

सरकार पुराने नोटों को कानूनी तौर से बंद कर देती है और नए नोटों को व्यापार में लाती है | नए नोटों के आने के बाद पुराने नोटों की कोई किम्मत नही रहती है |

विमुद्रीकरण कब हुआ था –

भारत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ८ नवम्बर २०१६ को ५०० और १००० की नोटों पर प्रतिबंध लगवाया था | विमुद्रीकरण इस प्रक्रिया के बारे में किसी को भी पता नही था |

यह प्रक्रिया एक अचानक से आए हुए भूकंप की तरह था | मोदी सरकार के द्वारा ५०० और १००० की नोटों को बंद करके उन नोटों के बदले ५०० और २००० की नोटों को जरी किये |

विमुद्रीकरण करने का कारण

काला धन भ्रष्टाचार और आतंकी को ज्यादा बढ़ावा देता था | जब सभी लोग बैंक में जाके पैसा जमा करने लेगे तो काला धन सबसे ज्यादा जमा हुआ था | काला धन ज्यादा तो आतंकी लोग उपयोग करते थे | इसलिए विमुद्रीकरण के साथ साथ आतंकवाद से जुडी सभी समस्या भी ख़तम हो गयी |

जो लोगो के पास काला धन था वो बाहर निकालने के लिए विमुद्रीकरण की प्रक्रिया को शुरू किये | मोदीजी के सरकार ने इस देश के विकास के लिए बहुत से कार्य किये है | लोग नकली नोटो का इस्तेमाल ज्यादा करते थे |

विमुद्रीकरण का लाभ

Notebandiइस विमुद्रीकरण की प्रक्रिया से लोगो को परेशानी का सामना करना पड़ा | लेकिन इस विमुद्रीकरण से बहुत सारे फायदे भी हुए है | जब सभी लोग बैंक में पैसा जमा करने गए तब एक एक पैसे की जानकारी सरकार के पास चली गयी |

जिनके के पास ज्यादा पैसा मिला उनसे आयकर विभाग के लोगो द्वारा जाँच पड़ताल की गयी | विमुद्रीकरण के कारण कई लोगो के पास काला धन मिल गया |

विमुद्रीकरण की वजह से काला धन खत्म हुआ और सरकार के पास सब पैसा जमा हो गया | उस पैसे का उपयोग देश के विकास के लिए हुआ |

विमुद्रीकरण से हानी

विमुद्रीकरण कारण से जितने फायदे हुए उतनी हानी भी हुई | लेकिन विमुद्रीकरण से हानी कुछ दिनों तक ही थी |

विमुद्रीकरण का ज्यादा नुकसान पर्यटन स्थलों को हुआ | इसके कारण काम में भी मंदी आ गयी थी | सभी व्यापार कुछ दिन के लिए मंद गति से चलने लगे |

विमुद्रीकरण का ज्यादा प्रभाव काम धंधो पर पड़ा | सभी लोगो को अपना पैसा बैंक में जमा करने के लिए सुबह से शाम तक बैंक के बाहर लाइन लगानी पड़ती थी |

निष्कर्ष:

विमुद्रीकरण से हमारे देश के अर्थव्यवस्था को फायदा हुआ | हमारे देश में विमुद्रीकरण पहले भी बहुत बार हुआ है | विमुद्रीकरण से हमारे देश के विकास के लिए गति प्राप्त हुई है | विमुद्रीकरण का कोई नकारात्मक प्रभाव देश पर नही पड़ा |

Updated: April 8, 2019 — 2:17 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *