भ्रष्टाचार पर निबंध – पढ़े यहाँ Corruption In India Essay In Hindi

प्रस्तावना:

भ्रष्टाचार यह एक समाज या देश को लगा हुआ कलंक हैं | यह एक बहुत बुरी समस्या हैं | इसकी वजह से व्यक्ति के साथ – साथ किसी भी देश का विकास रुक जाता हैं | लेकिन आज हमारे देश में पूरी तरह से फ़ैल चूका हैं |

आज हमारे भारत देश में आईटी कंपनीयां, बड़े कार्यालय और अच्छी अर्थव्यवस्था होने के बावजूद भी आज भी यह देश पूर्ण रूप से विकसित नही हैं | इसका मुख्य कारण हैं भ्रष्टाचार | आज के समय में भ्रष्टाचार ने हर जगह पर अपना घर बना लिया हैं |

भ्रष्टाचार का अर्थ –

भ्रष्टाचार यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ हैं – भ्रष्ट + आचार | भ्रष्ट का अर्थ होता हैं – बुरा या बिगड़ा हुआ और आचार का अर्थ होता हैं – आचरण | जिसका अर्थ होता हैं जो आचरण किसी भी प्रकार से नीति के खिलाफ और गलत हो |

जब कोई व्यक्ति न्याय व्यवस्था के खिलाफ जाकर अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए गलत मार्ग को अपनाता हैं उसे ‘भ्रष्टाचारी’ कहते हैं |

भ्रष्टाचार के परिणाम

हमारे देश में कई ऐसी जगह हैं जहाँ पर धर्म, संप्रदाय और विशवास के नाम पर लोगों का शोषण किया जाता हैं | भ्रष्टाचार का सबसे ज्यादा परिणाम आम जनता पर होता हैं |

उसके साथ – साथ भ्रष्टाचार का प्रभाव देश के विकास पर भी होता हैं | देश में भ्रष्टाचार बढ़ने के कारण देश का विकास करने में बाधा निर्माण होती हैं |

जो लोग ईमानदारी होते हैं, उन्हें सामाजिक, मानसिक, आर्थिक, नैतिक इन समयों का सामना करना पड़ता हैं |

भ्रष्टाचार की वजह से गरीब लोग गरीब हो जा रहे हैं और अमीर लोग अधिक अमीर बनते जा रहे हैं | आज भ्रष्टाचार हर एक क्षेत्र में बढ़ गया हैं |

भ्रष्टाचार के कारण

भ्रष्टाचार के कई कारण होते हैं | जैसे की

असमानता

जब कोई भी मनुष्य किसी को अभाव के कारण कष्ट होता हैं और वह भ्रष्ट आचरण करने लगता हैं |

स्वार्थ की भावना

असमानता, सामाजिक और पद – प्रतिष्ठा के कारण कोई भी व्यक्ति अपने आप को भ्रष्ट बना लेता हैं | अभाव और ईर्ष्या की वजह से मनुष्य उसका शिकार हो जाता हैं और भ्रष्टाचार को अपनाता हैं |

भ्रष्टाचार रोकन के उपाय

भ्रष्टाचार यह एक समाज पर लगा हुआ कलंक हैं | समाज और देश में अन्य स्तरों पर बढ़ने वाले भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कठोर करवाई करवाई करनी चाहिए |

जब तक इसे रोकने की कोशिश नहीं करेंगे तब तक भ्रष्टाचार की समस्या बढती जाएगी | लोगों को हर एक कार्य ईमानदारी से करना होगा |

निष्कर्ष:

भ्रष्टाचार की वजह से कोई भी देश विकास नहीं कर पाता हैं | भ्रष्टाचार यह आतंकवाद से भी सबसे बड़ा खतरा बन चूका हैं | कई लोग अपने स्वार्थ में अंधे होकर इस भ्रष्टाचार को अपनाते हैं |

इसकी वजह से हमारे देश का नाम बदनाम हो रह हैं | इसे रोकने के लिए सरकार को प्रभावी कदम उठाने चाहिए |

Updated: June 15, 2019 — 8:23 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *