भ्रष्टाचार पर निबंध कक्षा ५ के लिए – पढ़े यहाँ Corruption Essay In Hindi For Class 5

प्रस्तावना:

आज सभी समस्याओं में से भ्रष्टाचार यह सबसे बड़ी समस्या हैं | यह समाज में तेजी से फैलने वाली बीमारी हैं | मनुष्य जन्म से ही भ्रष्ट नहीं होता हैं बल्कि उसकी गलत सोच और लालच के कारण उसे धीरे – धीरे आदत हो जाती हैं |

मनुष्य के ऊपर कोई भी मुसीबत आये तो उसे हिम्मत से सामना करना चाहिए | कभी गलत मार्ग नहीं अपनाना चाहिए | लेकिन कई लोग अपने परिस्थिति का सामना करने के लिए गलते मार्ग अपनाते हैं |

भ्रष्टाचार का अर्थ –

भ्रष्टाचार यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ हैं – भ्रष्ट + आचार | भ्रष्ट का अर्थ होता हैं बुरा और आचार का अर्थ होता हैं – आचरण | यानि भ्रष्टाचार का मतलब होता हैं – वह आचरण जो किसी भी प्रकार से बुरा हो |

कोई व्यक्ति जब न्याय व्यवस्था के नियम और कायदों के खिलाफ जाकर अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए जो बुरा आचरण अपनाता हैं उसे ‘भ्रष्टाचार’ कहते हैं |

भ्रष्टाचार की समस्या

आज बहुत सारे क्षेत्र में भ्रष्टाचार की समस्या निर्माण हो गयी हैं | जैसे की जानबूझकर चीजों का दाम बढाना, हर एक काम के लिए पैसे अलग से पैसे कार्य पैसे लेकर करना, सस्ते सामान लाकर महंगे में बेचना, चोरी करना, चिकित्सा के क्षेत्र में गलत ओपरेशन करना इत्यादि |

आज भारत देश के साथ – साथ अन्य देशों में भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ रहा हैं | अगर भ्रष्टाचार को समय पे नहीं रोका जायेगा तो यह पुरे देश को अपनी चपेट (घेरा)  में कर लेगा |

भ्रष्टाचार के कारण     

स्वार्थ और असमानता

असमानता, आर्थिक, सामाजिक और सम्मान, पद – प्रतिष्ठा के कारण मनुष्य अपने आप को भ्रष्ट बना लेता हैं | भ्रष्टाचार का प्रभाव बहुत विपरीत होता हैं | भ्रष्टाचार के बिना कोई भी क्षेत्र प्रभाव के कारण मुक्त नहीं हैं |

आर्थिक परिस्थिति

कई लोग अपनी आर्थिक परिस्थिति के कारण भ्रष्टाचार को अपनाते हैं | उनके पास पैसा ना होने के कारण चोरी करना या अन्य प्रकार के गैरव्यवहार करने को मजबूर हो जाते हैं | मनुष्य कभी – कभी अपने स्वार्थ के लिए भ्रष्टाचारी बन जाता हैं | वो अपना स्वार्थ पूरा करने के लिए गलत मार्ग का अवलंब करता हैं |

भ्रष्टाचार रोकने के उपाय

भ्रष्टाचार यह एक सबसे बड़ी बिमारी हैं | जब यह बिमारी किसी को लगती हैं तो, उसके जीवन को नष्ट कर देती हैं | इस समस्या को रोकने के लिए कठोर कारवाई करनी चाहिए | अगर ऐसे अपराध के लिए कठोर कानून या नियम नहीं बनायेंगे तो भ्रष्टाचार जैसी बिमारी ओर फ़ैल जाएगी |

भ्रष्टाचार विरोधी दिवस      

भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए सभी लोगों में जागरूकता फैलानी चाहिए | संयुक्त राष्ट्र सभा ने ३१ अक्टूबर, २००३ को एक प्रस्ताव जाहिर करके आंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस मनाने की घोषणा कर दी | इसलिए हमारे देश में ९ दिसंबर को आंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं |

निष्कर्ष:

सरकार को इसे रोकने के लिए कठोर कानून बनाना आवश्यक हैं | भ्रष्टाचार से जुड़े हुए लोग अपने स्वार्थ में अंधे होकर अपने देश का नाम बदनाम कर रहे हैं | इस भ्रष्टाचार की बिमारी खत्म करने के लिए सभी को प्रयास करना चाहिए |

Updated: May 10, 2019 — 12:00 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *