भ्रष्टाचार पर निबंध कक्षा ३ के लिए – पढ़े यहाँ Corruption Essay In Hindi For Class 3

प्रस्तावना:

भ्रष्टाचार यह एक बहुत बड़ी समस्या हैं | यह कोई अपनाता हैं तो व्यक्ति के साथ – साथ देश का विकास और प्रगति भी रुक जाती हैं | यह बुरी तरह से फैलने वाली बिमारी हैं | इसका सबसे ज्यादा प्रभाव व्यक्ति और देश के विकास पर पड़ता हैं | भ्रष्टाचार आर्थिक और सामाजिक रूप से देश के विकास में बाधा निर्माण करता हैं |

भ्रष्टाचार का अर्थ –

भ्रष्टाचार यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ हैं – भ्रष्ट + आचार | भ्रष्ट का अर्थ होता हैं – बिगड़ा हुआ और आचार का अथ होता हैं – आचरण |

कोई भी व्यक्ति न्याय व्यवस्था के नियमों के खिलाफ जाकर अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए गलत मार्ग को अपनाता हैं उसे ‘भ्रष्टाचारी’ कहते हैं |

भ्रष्टाचार के कारण

जनसंख्या वृद्धि

हमारे देश की जनसँख्या सबसे ज्यादा हैं | इस देश का जनसंख्या के दृष्टिकोण से दूसरा क्रमांक लगता हैं | जैसे जनसंख्या तेजी से बढ़ रही हैं उसी हिसाब से लोगों को अपनी मुलभुत आवश्यकता पूरी करने के लिए उतना उत्पादन नहीं हो पा रहा हैं |

इसलिए मनुष्य अपना स्वार्थ पूरा करने के लिए गलत मार्ग अपनाता हैं | जिसके कारण कई लोग अपनी जरूरतों की पूर्ति  के लिए राजनेताओं और अधिकारों से रिश्वत लेते हैं |

अशिक्षा

कई लोग शिक्षा प्राप्त न करने के कारण गरीब लोग सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं उठा सकते हैं | वहाँ के जनप्रतिनिधि लोग गरीब लोगों को योजनाओं के बारे में जागरूक नहीं करते और पूरा पैसा स्वयं लेते हैं |

कालाधन

कालाधन यह भ्रष्टाचार का सबसे प्रमुख कारण हैं | भ्रष्टाचार के कारण गरीब लोग गरीब हो जाते हैं और अमीर लोग अधिक अमीर हो जाते हैं | कई लोगों के पास कालाधन बहुत होता हैं | यह भ्रष्टाचार को सबसे ज्यादा बढ़ावा देता हैं |

भ्रष्टाचार के परिणाम

भ्रष्टाचार के कारण हमारे देश और समाज का विकास रुक जाता हैं | उसके कारण हमारा देश आज अन्य देशों से पीछे हैं |

गरीब लोगों को सरकार के द्वारा बनाई गयी योजनाओं का लाभ नहीं पहुँच पा रहा हैं |

इसके कारण कालाबाजारी को सबसे ज्यादा बढ़ावा मिल रहा हैं |

भ्रष्टाचार की वजह से जन और धन यह दोनों की बर्बादी हो रही हैं |

भ्रष्टाचार दूर करने के उपाय

सबसे पहले भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण करना होगा |

सभी लोगों को शिक्षा को बढ़ावा देना चाहिए |

समाज में और अन्य स्तरों पर बढ़ने वाले भ्रह्ताचार को रोकने के लिए कठोर दंड करना चाहिए |

सभी लोगों को ईमानदारी से अपना हर एक काम करना चाहिए |

कालेधन को दूर करने के लिए सरकार को लगातार विमुद्रीकरण करना चाहिए |

निष्कर्ष:

भ्रष्टाचार को दूर करना सिर्फ सरकार का ही कार्य नहीं हैं बल्कि उसके साथ – साथ हर एक व्यक्ति का कर्तव्य हैं | सभी लोगों को इसे खत्म करने के लिए प्रयास करना चाहिए | व्यक्ति को अपना स्वार्थ पूरा करने के लिए गलत मार्ग को अपनाना नहीं चाहिए |

Updated: May 11, 2019 — 11:38 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *