नारियल पेड़ पर निबंध – पढ़े यहाँ Coconut Tree Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हमारे देश में बहुत सारे पेड़ है और कई पेड़ों को पूज्यनीय माना गया हैं | नारियल का पेड़ यह बहुत बड़ा होता हैं | जो पुरे विश्व में पाया जाता हैं | देश के पुराण और वेदों में पेड़ों का महत्व और उनका उपयोग इसपे संशोधन किया हैं |

नारियल का पेड़ २० से ३० मीटर तक ऊँचा होता हैं | यह पेड़ बहुत चौड़ा और ऊँचा होता हैं | नारियल के पेड़ का तना लम्बा और शाखा रहित होता हैं | नारियल के पेड़ ज्यादा तो समुंद्र के किनारों पर उगते हैं |

अग्रेसर देश

नारियल के उत्पादन में केरल, मद्रास और आंध्र प्रदेश इत्यादि. देश अग्रेसर हैं | भारत देश में भी नारियल का उत्पादन किया जाता हैं | नारियल का पेड़ ७० से ८० साल तक रहता हैं | यह पेड़ १५ साल के बाद फल देना शुरू करता हैं |

सांस्कृतिक महत्व 

नायियल को पवित्र माना जाता हैं | नारियल ज्यादा उपयोग मंदिरों में किया जाता हैं | नारियल यह फल भगवन को चढ़ाया जाता हैं |

राखी पूर्णिमा के दिन समुंद्र में नारियल को अर्पण किया जाता हैं | नारियल इस फल को हिन्दू धर्म में सबसे ज्यादा महत्व हैं | धर्म के अनुसार नारियल के फल को भगवान शिव जी का प्रतीक माना जाता हैं |

धार्मिक महत्ता

हमारे भारत देश में नारियल इस फल को धामिक मान्यता दी गयी हैं | क्यों की ऐसा माना जाता हैं की, भगवान शिव का निवास हैं |

नारियल में जो तीन छेद होते हैं उसे भगवान शिव की आँखे और जटाए शिव की जटाए होती हैं | इसलिए धर्म के अनुसार नारियल को पवित्र और प्रतिक माना जाता हैं |

नारियल के प्रकार

नारियल के पेड़ दो प्रकार के होते हैं | एक जो सबसे ऊँचे प्रजाति जो कोकण किनारे पर पाए जाते हैं और दुसरे मलबारी या मलेशियन प्रजाति में पाए जाते हैं |

मलेशियन नारियल के पेड़ ५ से ६ साल में फल देना शुरू करते हैं | नारियल के पेड़ में पुरे सालभर फल लगते हैं | नारिओयल के पेड़ को मार्च से जुलाई महीने तक ज्यादा फल लगते हैं | नारियल के फल को श्रीफल भी कहा जाता हैं |

नारियल का उपयोग

पके हुए नारियल का उपयोग तेल निकलने के लिए किया जाता हैं | बालों को नारियल का तेल लगाने से बाल झड़ते नही और बाल काले बने रहते हैं | नारियल पेड़ का उपयोग अन्य सारी वस्तुएं बनाने के लिए भी किया जाता हैं |

नारियल के पेड़ से चटाईया, पैकिंग बॉक्स, झाड़ू इत्यादि. वस्तु बनवाने के लिए किया जाता हैं | नारियल का ज्यादा उपयोग खाने में किया जाता हैं | जैसे की नारियल की चटनी, लड्डू और अन्य प्रकार के खाने वाली चीजों में भी नारियल का उपयोग किया जाता हैं |

निष्कर्ष:

हिन्दू धर्म में नारियल को महत्व स्थान दिए हैं | नारियल पेड़ का उपयोग बहुत सारे चीजों में किया जाता हैं | इसलिए नारियल के पेड़ को कल्पवृक्ष माना गया हैं | नारियल का पेड़ बहुत उपयोगी वृक्ष माना जाता हैं |

Updated: April 2, 2019 — 1:05 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *