चारमीनार पर निबंध – पढ़े यहाँ Charminar Essay In Hindi

प्रस्तावना:

चारमीनार यह एक ऐतिहासिक वास्तुकला हैं | चारमीनार को भारत के मुख्य पर्यटन स्थल के रूप में देखा जाता हैं |

चारमीनार यह सभी स्मारकों में से मुख्य स्मारक हैं | चारमीनार बहुत सुन्दर और प्रभावशाली ईमारत हैं |

चारमीनार कहा स्थित है –

चारमीनार यह मूसा नदी के तट पर मक्का मस्जिद के साथ आंध्र प्रदेश के ‘हैदराबाद’ में स्थित है | यह क़ुतुब शाही वास्तुकला हैं |

चारमीनार का अर्थ

चारमीनार यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हैं – चार + मिनार | चारमीनार का अर्थ होता हैं – चार मीनारे या ऐसी वास्तु है, जिसमे चार मीनारें होती हैं |

चारमीनार की निर्माण

चारमीनार यह ४०० साल पुरानी वास्तुकला सन १५९१ में सुल्तान मोहम्मद कुली क़ुतुब के द्वारा बनायीं गयी थी | वो राजवंश के ५ वे सुल्तान थे |

सुल्तान ने अपनी राजधानी गोलकोंडा से हैदराबाद तक पुनर्स्थापित करने के बाद स्मारक की निर्मिती की |

चारमीनार का इतिहास

ऐसा माना जाता है की, सुल्तान क़ुतुब अली ने चारमीनार का निर्माण करने के लिए अल्लाह (भगवान) से प्रार्थना की |

उन्होंने अल्लाह से यह प्रार्थना की थी की शहर से प्लेग (रोग) खत्म हो जायेगा तो चारमीनार वास्तु बनवाएगा | उन्होंने सभी पीड़ित लोगों की समस्या दूर करने के लिए इस स्मारक निर्माण किया था |

चारमीनार की रचना

चारमीनार एक सुंदर और भव्य स्मारक हैं | यह चारमीनार वर्गाकार (चौकोन) ईमारत हैं | व्हार्मिनर यह इमारत २० मी. लम्बी और २० मी. चौड़ी हैं और इस ईमारत की ऊंचाई ४८.७ मीटर हैं | इसकी हर एक मीनार चार मंजिल की हैं |

इस मीनार के अंदर जाने के लिए १४९ सीढिया है इसके द्वारा जो देखने के लिए जाने वाले लोग इन सीढियों के द्वारा ऊपर जा सकते हैं | चारमीनार के अंदर मुख्य गैलरी में लोग नमाज पढ़ते हैं | यह ईमारत ग्रेनाईट और चुने के गरे से बनी हुई हैं |

चारमीनार की सुंदरता  

चारमीनार यह बहुत ही सुंदर और शोभनीय इमारत हैं | कई लोग इस ईमारत को देखने के लिए रात में जाते हैं |

रात में यह ईमारत जगमगाती दिखती हैं | इस इमारत को देखने के लिए बहुत पर्यटक आते हैं | चारमीनार के चारों तरफ मार्केट है, उसके कारण पर्यट कों यह मीनार अपनी ओर आकर्षित करती हैं |

निष्कर्ष:

चारमीनार अपनी भव्य विशालता और सुंदरता के कारण पर्यटकों का आकर्षण केंद्र बना हैं | हैदराबाद इस चारमीनार के लिए बहुत प्रसिद्द हैं |

इसकी सुंदरता के कारण चारमीनार को देखने के लिए हजारो पर्यटक देश विदेश से आते हैं | यह एक अनोखा पर्यटन स्थल हैं | चारमीनार यह हैदराबाद का एक अविभाज्य भाग हैं |

Updated: April 2, 2019 — 11:42 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *