कैरम बोर्ड पर निबंध – पढ़े यहाँ Carrom Board Essay In Hindi

प्रस्तावना:

देश में खेले जाने वाले अन्य खेलों में से कैरम बोर्ड यह भी एक खेल हैं | कैरम यह एक सबसे सरल खेल हैं | लोग अपने मनोरंजन के लिए खेल खेलते हैं | कैरम बोर्ड यह खेल बच्चों, महिला और जवान, बूढ़े लोग भी खेल सकते हैं |

यह खेल मनोरंजन के लिए अत्यंत लोकप्रिय हैं | कैरम बोर्ड को खेलने के लिए किसी मैदान की जरूरत नही होती हैं | यह खेल आसानी से खेला जाता हैं |

कैरम बोर्ड की रचना

कैरम बोर्ड यह प्लाईवुड और हार्ड बोर्ड पर खेला जाने वाला खेल हैं | इस बोर्ड का चौकोर होता हैं | इसके निचे लकड़ी का फ्रेम लगाया जाता हैं क्यों की यह कैरम बोर्ड मजबूत रहे | इस कैरम बोर्ड के चारों तरफ छेद होते हैं |

खेलने वाला खिलाडी इस चारों छेद के बिच में गोटी डालते हैं | कैरम बोर्ड के बिच में एक बड़ा सर्कल होता हैं, जिसकी गोलाई १५ सेमी तक होती हैं |

गोटियों का खेल

कैरम बोर्ड यह खेल गोटियों से खेला जाता हैं | इस खेल में गोटियाँ लाल, सफ़ेद और काले रंग की होती हैं | इस खेल को कैरम गोटी और स्ट्राइक के साथ खेला जाता हैं |

जिसमे ९ गोटी काले रंग की और ९ गोटी पीले रंग की होती हैं | इसमें जो लाल रंग की गोटी होती हैं उसे क्वीन कहाँ जाता हैं |

स्ट्राइकर क्या होता है

जब यह खेल खेला जाता है, तो गोटों को हिट करने के लिए स्ट्राइकर का उपयोग किया जाता हैं |

स्ट्राइकर के साथ गोट को निशाना लगाकर गोट को छेद में डाला जाता हैं | स्ट्राइकर का निशान ऐसा लग्न चाहिए की गोट छेद में चली जानी चाहिए |

कैरम खेलने के नियम

इस खेल को खेलने ४ खिलाडियों की जरुरत होती हैं | ४ खिलाडी एक दुसरे के सामने होते हैं | हर एक टीम के अंक अलग-अलग जोड़े जाते हैं |

जिस टीम के खिलाडियों के स्कोर ज्यादा होते हैं वो टीम जीत जाती हैं |

कैरम बोर्ड खेलने का गेम २९ अंकों का होता हैं | यह मैच तीन पारियों में खेली जाती हैं |

जो खिलाडी इन तीन पारियों को पूरा करती हैं वो टीम जीत जाती हैं |

कैरम बोर्ड पर खिलाडी को स्ट्राइकर को ऐसा रखे की वह दो लाइन को टच करे | यदि स्ट्राइकर एक लाइन को टच करता हैं तो उसे फाउल माना जाता हैं |

खेल के अंत में जब कैरम बोर्ड पर लाल, पिली और काली गोटी रह जाती हैं, तो खिलाडी को लाल गोटी सबसे पहले हासिल करनी होती हैं |

निष्कर्ष:

कैरम बोर्ड यह एक आसानी से खेलने वाला खेल हैं | इस कैरम बोर्ड का प्रदर्शन सन १९२९ में सबसे पहले मुंबई में हुआ था | इसके कारण इस खेल की लोकप्रियता बढ़ने लगी | कैरम बोर्ड यह एक बहुत अच्छा और मनोरंजक खेल हैं |

Updated: August 21, 2019 — 6:14 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *