एड्स पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ AIDS Essay In Hindi

प्रस्तावना

एड्स यह एक जानलेवा बीमारी है | इस बीमारी को रोकने के लिए चिकित्सक और वैज्ञानिको ने कई वर्षो से प्रयत्न किये है लेकिन आज तक किसी को भी सफलता नही मिली है |

एड्स किसे कहते है 

एड्स ‘एक्वायर्ड इम्यून डेफिसिएन्सी सिंड्रोम’ यह उसका संक्षिप्त नाम है | यह बीमारी एहसास सबसे पहिले सन १९८१ में अमेरिका में हुआ था | इस देश में पांच समलिंगी पुरुषों में एड्स इस बीमारी के लक्षण पाए गए थे |

इस बीमारी का सबसे पहिले प्रारंभ अमेरिका में ही हुआ था | एड्स यह बीमारी ‘ह्‌यूमन एम्यूनो डेफिसिएन्सी वायरस’ से होती है | इस बीमारी के जीवाणु वास्तविक विश्व के लोगो को बाधित रों रहे है |

एड्स निर्माण होने के कारण

दूषित सुई

अस्तपताल में एक ही सुई का दुबारा इस्तेमाल करने से यह बीमारी हो जाती है | डॉक्टर जब एक सुई का वापर दुबारे करते है तब एड्स की बीमारी होती है |

दूषित रकत

जब दूषित रकत का संक्रमण शरीर में होता है तब एड्स यह बीमारी होती है | विकसित देशो में प्रक्रिया के पहिले रकत की जाँच की जाती है | जाँच करके रकत का संक्रमण कही संक्रमित तो नही है |

एड्स दिवस

पुरे विश्व में पाहिले दिसंबर को एड्स दिवस मनाया जाता है | यह दिवस इसलिए मनाया जाता है की, इस बीमारी के बारे में लोगो में जागरूकता फैल जाये |

यह दिन लोगो को यह बताता है की, उन लोगो का साथ देना चाहिए और सहयोगी बने जो इस एच आय वी पॉजिटिव है | इस बीमारी के कारण बहुत लोगो की मृत्यु हो जाती है | एड्स यह एक जानलेवी बीमारी है |

एड्स बीमारी के बारे में जागरूकता

एड्स बीमारी के बारे में सभी लोगो में जागरूकता फ़ैलाने के लिए और उस बीमारी के ऊपर उपचार बताने के लिए भिन्न भिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है | यह बीमारी सबसे घातक बीमारी है | आज तक इस बीमारी के ऊपर कोई दवा नही मिली है |

इसलिए एड्स पीड़ित व्यक्ति को इस बीमारी का सामना करना पड रहा है | एड्स बीमारी से दूर रहने के लिए अनेक कार्यक्रमों का आयोजन करके इस बीमारी के बारे में बताया जाता है | और उससे बचने के लिए क्या करना चाहिए |

निष्कर्ष

इस बीमारी के लिए कोई भी इलाज नही है | इसलिए इससे बचने के लिए हमें एड्स के बीमारी के निवारण पर ध्यान देना चाहिए | इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए अभी उपचार उपलब्ध हुए है |

Updated: May 28, 2019 — 1:22 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *